Powerful Money Bag Costs 5100 Rs. Maha Lakshmi Potli..From Rishikesh

Powerful Money Bag Costs 5100 Rs.
Maha Lakshmi Potli..From Rishikesh
Shree Sukt Anushthan Se Abhimantrit 
It has 21 items special herbs.
You have to put this money bag in your cash box or locker. Money will keep flowing to you. Aapke ghar parivaar ko maa lakshmi ka ashirvaad prapt hoga.
A Red & Golden Colour Attractive Potli has 21 specially energized items for money & happiness 
1. Kanak Dhara Yantra.
2.Shree Yantra.
3.Kuber Yantra.
4.Moti Shankh.
5.Laghu Nariyal.
6.Saphatic Daane 5
7.Inderjaal.
8.Kamya Sindoor.
9.Assam herb.
10.Lakshmi Kodi.
11.Kamal Gutta 5
12.Naag Kesar.
13.Yellow haldi.
14.Black Haldi.
15.Gomti Chakra. 5
16.Silver Snake Couple.
17.Lakshmi ganesh silver coin.
18.Laal Gunja.
19.Bhasma Abhimantrit Dhaga
20.Rudraksha beads 5 mukhi five.
21.Parad Beads 5
Isse Locker ya cash box mein rakhenge toh hamesha laxmi ji ki kripa bani rahegi

Vedant thanku so.much ur an angel a light , a guardian who is spreading hope nd happiness to evryone

Anupama Jaisingh Sawant: Vedant thanku so.much ur an angel a light , a guardian who is spreading hope nd happiness to evryone without even considering anything in return…! Your posts, like codes , some good thoughts , predictions for all sun signs…all these hardwork that u do is making a difference…Thanku for being you….God bless you with the great virtues of life and gifts… Hare krishna !!

Why Spiritual Remedies don’t work for some people?

Why Spiritual Remedies don't work for some people?

I'm not happy in my life and things have not changed with Spiritual Remedies too!

As long as you cling onto " I am not happy" you CREATE more to BE unhappy about.

When you CHOOSE to EMBRACE what is, you OPEN to ALLOW CHANGE to OCCUR.

Start each morning, on the start of a new day, be open to happiness and ALLOW yourself to enjoy whatever the task may BE.

You will FIND you GET more recognition and appreciation when you CHOOSE to BE happy.

Happiness is a choice, it is not something that comes from outside circumstances.

Relax, figure out how to enjoy where you are, and you will FIND things beginning to CHANGE.

One must BEGIN to PUT into the past what has been, FORGIVE and look to the future, putting in the NOW what one wants in the future.

In other words, start saying you are seeing what you want to see, in order for it to come into fruition.

As long as one holds onto judgments about what has been in the past, one keeps repeating the same patterns.
Spiritual remedies BRING US into alignment with what it is they express. We must BE willing to CHANGE ourselves to have our lives CHANGE. What is is the result of past stories perpetuated into the the future by our focus on what has been. We must BE willing to follow good impulses when working with spiritual remedies, in order to ALLOW CHANGE to OCCUR.

We cannot DO what we have always DONE and expect CHANGE to OCCUR. We must BE willing to ALLOW the Spiritual Remedies to lead US into a NEW future.

Aapke codes n remedies ne work kiya

[2:51 AM, 10/28/2017] Shaily S: Hi sharma ji
[2:51 AM, 10/28/2017] Shaily S: Aapke codes n remedies ne work kiya
[2:51 AM, 10/28/2017] Shaily S: Thanks a lot meri help karne k liye😊😊
[2:52 AM, 10/28/2017] Shaily S: I don't know main kya kahu bas thanks keh sakti hoon

जानिये सूर्य को जल देने के न‌ियम और फायदे

🙏🌞 ॐ सूर्याय नमः 🌞🙏

जानिये सूर्य को जल देने के न‌ियम और फायदे
==============================
सूर्य को जल चढ़ाने से सीधे हमें लाभ प्राप्त होते हैं। सुबह-सुबह के समय जल्दी उठने से ताजी हवा और सूर्य की किरणों से हमारे स्वास्थ्य को लाभ होता है, यह सभी जानते हैं। इसके अलावा सूर्य को जल चढ़ाते समय पानी के बीच से सूर्य को देखना चाहिए, ऐसे में सूर्य की किरणों से हमारी आंखों की नैत्र ज्योति भी बढ़ती है। सूर्य की किरणों में विटामिन डी के कई गुण भी मौजूद होते हैं। इसलिए जो भी व्यक्ति उगते सूर्य को या उगने के २:३० घंटे तक और आसन पर या पट्टे पर खड़े होकर जल चढ़ाता है वह तेजस्वी होता है, उसकी त्वचा में आकर्षक चमक आ जाती है।
विज्ञान की दृष्टि से देखा जाए तो सूर्य और पृथ्वी के बीच करीब 1496000000 किलोमीटर की दूरी है। पृथ्वी तक सूर्य का प्रकाश पहुंचने में 8 मिनट 19 सेकेंड का समय लगता है। सूर्य ही सभी जीव-जन्तुओं के लिए सर्वाधिक महत्वपूर्ण ऊर्जा का स्रोत है। पेड़- पौधों को तो भोजन भी सूर्य के कारण ही मिलता है। पुराने ऋषि-मुनियों द्वारा बताया गया है कि सूर्य को जल देने से हमारे शरीर के हानिकारक तत्व नष्ट हो जाते हैं।
सूर्य को देवता माना जाता है, इनकी पूजा के लिए कई विधियां भी बताई गई है। सूर्य देव को प्रतिदिन जल अर्पित करने पर हमारी सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती है। साथ ही आंखों की रोशनी बढ़ती है और त्वचा में तेज पैदा होता है। समाज में मान-सम्मान की प्राप्ति होती है, यश मिलता है।
ज्योतिष शास्त्र में सूर्य को यश और मान-सम्मान का कारक ग्रह माना जाता है। किसी भी व्यक्ति की कुंडली में उच्च का सूर्य होने पर वह प्रतिष्ठित और तेजस्वी होता है। ऐसे व्यक्ति को समाज में सम्मान की दृष्टि से देखा जाता है। वहीं इसके विपरित नीच का या अशुभ फल देने वाला सूर्य होने पर व्यक्ति को कई प्रकार के कलंक झेलने पड़ सकते हैं। आंखों या त्वचा से संबंधित रोग हो सकते हैं। इनसे बचने के लिए प्रतिदिन सूर्य को जल अर्पित करना चाहिए।
सूर्य को जल चढ़ाते समय ध्यान रखना चाहिए कि सूर्य को कभी भी सीधे नहीं देखना चाहिए। जल चढ़ाते समय पानी की धारा के बीच से सूर्य को देखें। इस प्रकार सूर्य की किरणों से आपकी आंखों की ज्योति भी बढ़ेगी। सूर्य को सुबह-सुबह जल्दी ही ज्यादा से ज्यादा 7-8 बजे तक जल चढ़ाना चाहिए। अधिक देर से जल नहीं चढ़ाना चाहिए।
सूर्य से शुभ फल प्राप्त करने के लिए रविवार के दिन सूर्य के निमित्त विशेष पूजा-अर्चना करनी चाहिए। साथ ही इस दिन सूर्य से संबंधित वस्तुओं का दान करने की परंपरा है। सूर्य से संबंधित वस्तुएं जैसे पीले वस्त्र या अन्य पीले रंग की खाद्य सामग्री का दान किसी जरूरतमंद व्यक्ति को किया जाता है।
सूर्य को चढ़ाने के लिए तांबे के लौटे का उपयोग करना चाहिए। लौटे में शुद्ध जल भरें और उसमें गैहूं और कुमकुम, पुष्प, गुड़, लालचंदन आदि पूजन सामग्री भी डाल लेना चाहिए। इसके बाद लौटे से सूर्य को जल चढ़ाएं।

🙏 जल चढ़ाते समय सूर्य मंत्र

ऊँ सूर्याय नम:, ऊँ भास्कराय नम:, ऊँ रवये नम:, ऊँ आदित्याय नम:, ऊँ भानवे नम:
आदि का जप करते रहना चाहिए।